नई दिल्लीन्यूज़ब्रेकिंग न्यूज़

आवास और शहरी कार्य मंत्रालय ने पानी महिलाओं के लिए अभियान” अंतर्गत ‘जल दिवाली’ नामक एक अनूठी पहल का किया आयोजन !

WhatsApp Image 2024-04-18 at 10.57.41
WhatsApp Image 2024-05-16 at 10.08.18
WhatsApp Image 2024-05-18 at 13.02.08
WhatsApp Image 2024-05-18 at 13.01.50
previous arrow
next arrow
WhatsApp Image 2024-04-08 at 17.25.32
WhatsApp Image 2024-03-03 at 00.25.49
WhatsApp Image 2024-04-24 at 21.43.09
WhatsApp Image 2024-04-25 at 09.18.36
WhatsApp Image 2024-05-08 at 12.33.24
WhatsApp Image 2024-05-12 at 12.50.39
previous arrow
next arrow

जल बचाएं, भविष्य बचाएं”

नई दिल्ली – आवास और शहरी कार्य मंत्रालय ने अमृत 2.0 के तहत 7-9 नवंबर 2023 तक राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के सहयोग से “महिलाओं के लिए पानी, पानी महिलाओं के लिए अभियान” अंतर्गत ‘जल दिवाली’ नामक एक अनूठी पहल का आयोजन किया। जल दिवाली का मुख्य उद्देश्य महिलाओं का जल शुद्धिकरण और वितरण के बुनियादी ढांचे के प्रति स्वामित्व तथा अपनेपन की भावना को बढ़ावा देना था।

दिल्ली ने 9 नवंबर 2023 को जल दिवाली मनाई जिसमें स्वयं सहायता समूहों (एसएचजी) को चार वाटर ट्रीटमेंट प्लांट (सोनिया विहार, वजीराबाद, ओखला और भागीरथी) का दौरा करने का अवसर मिला। इस यात्रा का उद्देश्य उन्हें घरों में स्वच्छ और सुरक्षित पेयजल की आपूर्ति में शामिल विभिन्न प्रक्रियाओं की समझ प्रदान करना था। दिल्ली जल बोर्ड के अधिकारियों ने महिला एसएचजी सदस्यों को वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में कार्यान्वित की जा रही जल गुणवत्ता परीक्षण प्रक्रियाओं के बारे में शिक्षित किया, जो सुनिश्चित करती हैं कि नागरिकों को उच्च गुणवत्ता वाला पानी मिले। एसएचजी सदस्यों ने डीजेबी अधिकारियों के साथ बातचीत की और इस बारे में अधिक जानकारी मांगी कि पानी उनके घर तक कैसे पहुंचता है। वे यह देखकर आश्चर्यचकित हुई कि जल शुद्धिकरण और वितरण का बुनियादी ढांचा कितना विशाल होता है

और इस प्रक्रिया में शुद्धिकरण के कितने चरण शामिल होते हैं।

इस कार्यक्रम में राज्य शहरी आजीविका मिशन, दिल्ली के अधिकारी राज्य मिशन प्रबंधक, शहर मिशन

प्रबंधक और सामुदायिक आयोजक उपस्थित थे। मिशन और डीजेबी के अधिकारियों के साथ एसएचजी

सदस्यों ने एक साथ जल संरक्षण का संकल्प लेते हुए ‘जल शपथ ली। महिलाओं को स्वयं सहायता समूहों

द्वारा निर्मित स्मृति चिन्ह और वस्तुएं प्रदान की गईं।

कार्यक्रम का समापन आवास और शहरी कार्य मंत्रालय को इस तरह के उल्लेखनीय कार्यक्रम के आयोजन

के लिए धन्यवाद देने के साथ “जल बचाएं, भविष्य बचाएं” जैसे मजबूत संदेश से हुआ।

100% LikesVS
0% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
close